ALL 30
मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के आदेश पर जनपद फर्रुखाबाद के सभी भू माफिया परास्त हो गए हैं
September 1, 2020 • रिटर्न विश्वकाशी न्यूज (आर वी न्यूज लाइव )

मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के आदेश पर जनपद फर्रुखाबाद के सभी भू माफिया परास्त हो गए हैं

संवाददाता सचिन यादव फर्रुखाबाद

जनपद फर्रुखाबाद उत्तर प्रदेश रिर्टन विश्वकाशी (RV NEWS LIVE) व्यूरो न्यूज- फर्रुखाबाद। सूबे की कमान जब एक संत के हाथ आई तो किसी ने यह नहीं सोचा था कि गुण्डों और माफियाओं की शामत आने वाली है। पूरे प्रदेश से लेकर जनपद-जनपद महंत से मुख्यमंत्री बने योगी आदित्यनाथ के डंडे के आगे बड़े-बड़े शातिर घुटनों बल भर होने लगे। पांचाल नगरी फर्रुखाबाद की गुण्डई तो उस वक्त पूरी तरह थम सी गई जब सीएम के अर्जुन के रूप में जिला मजिस्टेªट मानवेन्द्र सिंह ने कलेक्टर की कुर्सी संभाली। भूमाफिया भयजदा ही नहीं बल्कि पूरी तरह घरों में दुबके नजर आने लगे। सरकार की करोड़ों रुपये की सम्पत्तियां खजाने में समाने लगीं तो आम जन मानस को स्वरोजगार से जोड़ने के अवसर भी परवान चढ़ने लगे।
जिले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा के अनुरूप गंगा की बेहतर सफाई, कोरोना काल में स्वच्छता का माहौल और सबसे बेहतर बात स्वावलंबन से लेकर उन्नयन तक के सफल सफरनामे के साथ प्रशासन की कदमताल हर किसी को भाने लगी।
बूढ़ी गंगा के पुर्नउद्गम जैसे साहसिक कदमों के सफल होने के साथ वक्फ और सरकारी सम्पत्तियों को अपहरण मुक्त करने व गांव-गांव जल संचयन को लेकर तालाबों की खुदाई, वृहद वृक्षारोपण और वृक्षों के संरक्षण की व्यवस्था, पूर्ण रूप से व्यवस्थित गौवंश के लिए तैयार किये 24 क्लस्टर जहां गौवंश की हर सुख-सुविधा का ध्यान और हर क्लस्टर को रोजगारमुखी बनाने के संसाधनों को अव्वल रखने की जिला मजिस्टेªट मानवेन्द्र सिंह की सोच ने पीएम मोदी और मुख्यमंत्री योगी की छवि में चार चांद लगाये। कानून व्यवस्था को लेकर जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक डाॅ. अनिल मिश्र के कड़े निर्णय अपराधियों के लिए बबाले जान बने। जिलाधिकारी की अगुवाई में जिले में तैनात मुख्य विकास अधिकारी डाॅ. राजेन्द्र पेंसिया की बेहतर सोच ग्रामीण जन मानस के लिए शिक्षा और ग्रामीण विकास में वरदान साबित हुई। स्कूलों के कायाकल्प से लेकर समान शिक्षा और समान अधिकारों की बात धरातल पर मिली।
एक के बाद एक भूमाफिया की कार्रवाई ने जहां पीड़ित और निर्बल वर्ग को राहत पहुंचाई वहीं जनपद में जालसाजी का गोरखधंधा सिरे से खत्म हुआ। कार्रवाई में न कोई बड़ा देखने को मिला न ही छोटा। प्रशासन का डंडा और न्यायशील कलम ने जिसे गलत पाया उस पर हुक्म पारित हुआ। दबंगांे की गुण्डागर्दी तो मानों ऐसे गायब हुई जैसे कि गधे के सिर से सींग। माफियागीरी पर निरन्तर कार्रवाई के चलते गरीब जन मानस को जिला प्रशासन की बेहतर कार्यशैली से न केवल राम राज्य का अहसास हुआ बल्कि सूबे में एक बेहतर शासन का भान भी हुआ। हर वर्ग के लिए सरकार की संचालित योजनायें जरूरतमंदों और पात्रों की झोली में पहुंचाने के लिए जिम्मेदार कसर नहीं छोड़ रहे। हर गरीब को छत और पेट की भूख मिटाने के लिए दो जून की रोटी अब द्वार-द्वार पहुंचने लगी। भ्रष्टाचार को भले ही पूरी तरह खत्म न किया जा सका लेकिन युध्द स्तर पर रोक लगाने में भी आलाधिकारियों ने कमी नहीं छोड़ी।