ALL 30
कोरोना वायरस के विरुद्ध जनता कर्फ्यू का दिखा व्यापक असर बाजार रहे बंद, सड़कें रही वीरान ट्रेन, बस समेत सारे परिवहन बंद होने से बनी रही लॉक डाउन की स्थिति
March 22, 2020 • रिटर्न विश्वकाशी न्यूज (आर वी न्यूज लाइव )

कोरोना वायरस के विरुद्ध जनता कर्फ्यू का दिखा व्यापक असर बाजार रहे बंद, सड़कें रही वीरान ट्रेन, बस समेत सारे परिवहन बंद होने से बनी रही लॉक डाउन की स्थिति

आर.वी न्यूज जिला ब्यूरो चीफ विवेक पाण्डेय और संवाददाता करुना शर्मा

मध्यप्रदेश सिंगरौली /नोबल कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आज देशभर में जनता कर्फ्यू की अपील की गई थी, किससे जनता का भारी समर्थन मिलता दिख रहा है।
पीएम ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई को सफल बनाने के लिए लोगों से रविवार सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक 'जनता कर्फ्यू' का हिस्सा बनने का अनुरोध किया था। प्रधानमंत्री की अपील का मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले समेत पड़ोसी राज्य के सोनभद्र जिले में पूरा असर नजर आया।

मोरवा में बाजार रहे बंद, दिनभर पसरा रहा सन्नाटा
बंद के आह्वान पर लोगों ने बढ़ चढ़कर सहयोग किया और सुबह 7 बजे से ही अपनी दुकानें बंद कर घर में दुबके रहे। जिस कारण सुबह से ही मुख्य बाजार समेत चहल-पहल वाले सभी इलाकों में पूरी तरह से सन्नाटा पसरा रहा। हर तरफ सड़कें वीरान रहीं, कहीं-कहीं पर इक्का-दुक्का लोग आवश्यक सामग्री की खरीदारी हेतु निकलते दिखे। इस दौरान नगर निगम अमले द्वारा दिन भर जगह-जगह लाउडस्पीकर से अनाउंसमेंट कर जनता कर्फ्यू में सहयोग करने की अपील के साथ कोरोना वायरस से बचने के लिए सावधानी बरतनी की अपील की जाती रही।

साप्ताहिक हाट समेत फल दुकानें भी रहीं बंद 
'जनता कर्फ्यू' का असर मोरवा साप्ताहिक हाट पर नजर आया। सब्जी की दुकानें भी प्रधानमंत्री की अपील के समर्थन में बंद रही। इसके अलावा फल दुकाने भी पूरी तरह से बंद रही। आवश्यक सेवाओं के नाम पर दवा दुकान छोड़ अन्य सभी दुकानें पूरी तरह से बंद रही।

ट्रेन बस समेत लगभग सभी परिवहन रहे बंद
जनता कर्फ्यू के फैसले के बाद रेलवे द्वारा आज चलने वाली करीब 2400 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया था। जिसे देखते हुए सिंगरौली रेलवे स्टेशन पर सन्नाटा पसरा रहा। रेलवे की तरह नगर बस सेवा समेत टैक्सी वाहन का परिचालन भी पूरी तरह से ठप रहा। जिस कारण आवश्यकता पर सफर कर रहे कुछ यात्रियों की फजीहत हुई। कई पैदल ही अपने गंतव्य स्थान पर जाते दिखे तो कई बस स्टैंड एवं रेलवे स्टेशन पर डटे रहे। सिंगरौली शहर में पहली बार इस प्रकार की लॉक डाउन स्थिति देखी गई जिसमें जनता ने खुद ही सहयोग दिया।

हालात पर नजर बनाने के लिए दिनभर पुलिस का जारी रहा गस्त
जनता कर्फ्यू की अपील के बाद किसी भी प्रकार के विवाद की स्थिति से बचाने के लिए पुलिस अधीक्षक टी के विद्यार्थी के निर्देशन पर मोरवा निरीक्षक नागेंद्र प्रताप सिंह सदल बल क्षेत्र का भ्रमण कर स्थिति का जायजा लेते दिखे। पुलिस गश्ती दल द्वारा लोगों को घरों में रहने की अपील भी की गई। वही बंद के आह्वान के बाद भी सुबह से ही संचालित अंग्रेजी शराब दुकान को पुलिस ने अंतः बंद कराया।

जनता कर्फ्यू को देखते हुए सीमा रही सील
कलेक्टर केवीएस चौधरी के निर्देश पर राज्य परिवहन की बसों पर अग्रिम आदेश तक पहले ही रोक लगा दी गई थी। वहीं जनता कर्फ्यू को देखते हुए मोरवा पुलिस बल द्वारा अंतरराज्यीय सीमा पर बैरीगेटिंग कर सीमा से आने जाने वाले सभी वाहनों पर रोक लगा दी। निरीक्षक नागेंद्र प्रताप सिंह के निर्देशन पर सहायक उपनिरीक्षक साहबलाल सिंह एवं प्रधान आरक्षक राजेश द्विवेदी द्वारा सीमा में प्रवेश करने वाले मध्यप्रदेश के सभी नागरिकों की जांच कराकर उन्हें प्रवेश दीया।

सीमा पर लोगों के सैनिटाइजेशन की दिखी व्यवस्था
मध्यप्रदेश एवं उत्तरप्रदेश के सीमा खनहना बैरियर पर स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा सभी आने जाने वाले लोगों की जांच पड़ताल कर उन्हें सैनिटाइज किया गया। वहीं किसी भी बीमार व्यक्ति पर संदेह होने पर जिला स्वास्थ्य विभाग को सूचित किया जाता रहा गया।

सोनभद्र के औडी, काशीमोड, अनपरा सभी जगह बंद का दिखा व्यापक असर
कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए मध्यप्रदेश के पड़ोसी राज्य उत्तरप्रदेश के सोनभद्र जिले में भी जनता कर्फ्यू का व्यापक असर देखने को मिला। आमतौर पर चहल-पहल वाले औडीमोड़, काशीमोड़ समेत अनपरा का पूरा बाजार में सन्नाटा पसरा रहा। यहां कुछ लोग चाय पीने को भी तरसते दिखे। हालात यह थे कि कुछ मेडिकल स्टोर छोड़ यहां पर दिनभर सन्नाटा पसरा रहा।

कोल परिवहन रहा पूरी तरह ठप
जनता बंद के आह्वान पर सिंगरौली एसडीएम द्वारा एनसीएल के कोल परिवहन को सुबह 5 बजे से लेकर रात 10 बजे तक के लिए प्रतिबंधित कर दिया था, जिसे देखते हुए मुख्य मार्ग की सड़कें पूरी तरह से वीरान रहीं।