ALL 30
दुर्व्यवस्था के बीच हो रहा घायलों का इलाज
October 15, 2019 • RETURN VISHVAKASHI NEWS (RV NEWS LIVE)

दुर्व्यवस्था के बीच हो रहा घायलों का इलाज

आजमगढ़। मऊ जिले के मोहम्मदाबाद गोहना थाने के वलीदपुर गांव में सोमवार की सुबह सिलेंडर से हुए हादसे के घायल और झुलसने वालों में 11 लोगों का जिला अस्पताल के उस आईसीयू वार्ड में इलाज किया जा रहा, जो वृद्धों के लिए बनाया गया है। वार्ड में अचानक मरीजबढ़ जाने और स्टाफ कम होने से इलाज करने में परेशानी हो रही थी। पर्याप्त संख्या में दवाइयां न होने से मरीज के घरवालों ने बाहर से दवाएं खरीदकर दीं जिससे सभी का इलाज शुरू हुआ। इलाज के दौरान एक महिला ने दम तोड़ दिया, जबकि अन्य का इलाज चल रहा। सभी की हालत गंभीर बनी हुई है।

अस्पताल में भर्ती कराए गए लोगों में वलीदपुर गांव निवासी रामबलक (57), ममता (16) पुत्री कतवारु, अजीत (10) पुत्र भृगुनाथ, रीना (25) पत्नी अजय, मोना (20) पुत्री छोटू, चमेली (60) पत्नी सूर्यनाथ, सावित्री (42) पत्नी कतवारु, सुभावती (70) पत्नी खदेरु, शैलेष कुमार (32) पुत्र रामाश्रय और जीयनपुर कोतवाली के भटौली गांव निवासी रामरती (45) पत्नी सत्यप्रकाश है। रामरती वलीदपुर गांव अपने मायके गई हुई थी। सुनीता (30) पत्नी भृगुनाथ की इलाज के दौरान मौत हो गई।
गांव वालों के मुताबिक घटना के बाद जो जैसे मिला उसे तत्काल अस्पताल पहुंचाया गया। जिला अस्पताल में इन मरीजों को किस वार्ड में भर्ती किया जाए यह समस्या उत्पन्न हो गई थी। बाद में अधिकारियों के निर्देश पर इन्हें जिला अस्पताल में वृद्धों के लिए बने आईसीयू वार्ड में भर्ती किया गया। वार्ड में मरीजों की संख्या कम होने की वजह से स्टाफ भी दो ही हैं। ऐसे में एकाएक इतनी संख्या में मरीजों के आने से पूरी व्यवस्था गड़बड़ा गई। दोपहर करीब एक बजे डीएम नागेंद्र प्रसाद सिंह मौके पर पहुंचे। डीएम के आने से पहले आनन-फानन में सारे सामान उपलब्ध कराया गया। डीएम ने इलाज में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरतने की चेतावनी दी है।