ALL 30
चितरंगी की दो मासूम बच्चियां जिले की बनी सबसे कम उम्र की दानवीर,कुंडली जमाए बैठे धन कुबेरों को संदेश
April 2, 2020 • रिटर्न विश्वकाशी न्यूज (आर वी न्यूज लाइव )

चितरंगी की दो मासूम बच्चियां जिले की बनी सबसे कम उम्र की दानवीर,कुंडली जमाए बैठे धन कुबेरों को संदेश

आर .वी न्यूज जिला ब्यूरो चीफ विवेक पाण्डेय संवाददाता करुना शर्मा

कोरोना से प्रभावित लोगों की मदद हेतु गुल्लक में जमा पैसे किये दान कुंडली जमाए बैठे धन कुबेरों को संदेश एसपी सिंगरौली ने उपहार देने के साथ  सम्मानित करने घोषणा की

मध्यप्रदेश सिंगरौली /एक अकेला थक जायेगा, मिलकर बोझ उठाना'.साथी हाथ बढ़ाना रे, साथी हाथ बढ़ाना रे,, इस गाने को सभी ने सुना होगा और जिस तरह से लोग कोरोना वायरस के साथ विश्वव्यापी लड़ाई में एक दूसरे का साथ दे रहे हैं, इससे यह गाना पूर्णतः जीवंत हो उठता है। बड़े-बड़े दिग्गजो के बीच जब असहाय व निर्धन द्वारा दान दिया जाता है तो वह अपने आप में निश्चित ही बड़ा दान तो होता है लेकिन जब 7-8 वर्ष की  मासूम बच्चियों द्वारा गरीबों को भोजन कराने के लिए अपने गुल्लक को तोड़ कर दान दिया जाय तो समझिए कि भारत देश के मान व सम्मान को  कोई विपदा व त्रासदी हिला नही सकती।

ऐसी  दानवीर दो मासूम बच्चियां ना केवल श्रृंगी ऋषि  भूमि सिंगरौली की बल्कि पूरे प्रदेश की सबसे कम उम्र की *कोरोना वायरस की विपदा से  लड़ने दान देने वालों में अपना दर्ज करा दिया। हम बात कर रहे हैं जिला मुख्यालय से तकरीबन 80 किलोमीटर दूर चितरंगी थाना क्षेत्र की ,जहाँ अंशिका द्विवेदी व अपूर्वी द्विवेदी ने अपने जन्मदिन पर मिले खिलौना रूपी गुल्लक में जमा राशि को कोरोना वायरस से प्रभावित लोगों की मदद के लिए टी आई चितरंगी जबर सिंह के पास जमा की। इतनी कम उम्र की दानवीर बच्चियों का यह प्रयास देखते ही देखते पूरे जिले में वायरल हो गया।इस संबंध में जब टी आई जबर सिंह से हमारे संवाददाता ने पुष्टि की तो उन्होंने पूरा वाकया बताते हुए कहा कि दोनों बच्चियां जब हमारे केबिन में आई और कहने लगी कि वह लोगों को खाना खिलाने मदद करना चाहती है, श्री सिंह ने बताया कि उन्हें लगा की शायद वह स्वयं भोजन के लिए मदद मांग रही हैं, तो मैंने कहा कि ठीक है तुम लोग जाओ खाना मिल जाएगा लेकिन जब आत्मविश्वास से लबरेज  दोनों बच्चियों ने कहा कि हमे मदद नही चाहिए बल्कि वह पुलिस को आर्थिक मदद करना चाहती हैं ताकि कोरोना वायरस से प्रभावित गरीबजनो को भोजन व वायरस से सुरक्षा के लिए मास्क खरीदा जा सके। टी आई श्री सिंह ने बताया कि दोनों बच्चियां नही मानी और अपने जन्म दिन पर मिले खिलौना रूपी गुल्लक में जमा क्रमशः 915 , 470 रुपये दान कर दिया। बकौल टी आई यह राशि भले ही छोटी हो पर इस मासूम उम्र  बच्चियों का यह दान करोड़ो की राशि से कम नही। 
गौरतलब हो कि एक तो भारत की अर्थवय्वस्था पहले से ही आर्थिक दबाव में थी और कोरोना की विश्वव्यापी महामारी ने इस दबाव को और भी बढ़ा दिया है। भारत सरकार ने इस महामारी से निपटने के लिए 1.70 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की घोषणा की है। घोषणा के बाद  से यह कह पाना मुश्किल है कि क्या यह आर्थिक पैकेज पर्याप्त है ,पर जिस तरह से देश के बड़े-बड़े उद्योगपति , राजनेता, अभिनेता व अन्य फिल्मी हस्तियां व  समाजसेवियों के साथ हमारे देश की बूढ़े बुजुर्ग व मासूम बच्चियों द्वारा हाथ बढ़ाया गया ,कोई भी विपदा व त्रासदी भारत देश का सिर नही झुका पाएगी। 

सिंगरौली एसपी देंगे उपहार ,करेंगे सम्मानित
 
कोरोना वायरस से लड़ने सिंगरौली जिले के तमाम समाजसेवी संघठनो व आमजनों द्वारा किये जा रहे मदद के साथ जिले की पुलिस का लॉक डाउन के दौरान कानून व्यवस्था व उसी बीच भूखे ,भटको को खाना खिलाना व मदद करना बहुत ही सराहनीय है। पुलिस के इस  इंसानियत भरे प्रयास को देख कर चितरंगी की अंशिका व अपूर्व द्विवेदी द्वारा गरीबो को भोजन कराने के लिए पुलिस को दी गयी आर्थिक मदद की सराहना करते हुए एसपी टी के विद्यार्थी ने कहा कि मासूम बच्चियों का यह प्रयास  बहुत ही अनुकरणीय है। यह समाज के तमाम सम्पन्न लोगों के लिए संदेश है कि यदि किसी की मदद करने का जज़्बा हो तो कितनी राशि है यह महत्वपूर्ण नही। कई तरह से मदद की जा सकती है। एसपी श्री विद्यार्थी ने कहा कि बच्चियों को पुलिस परिवार द्वारा ना केवल उपहार दिया जाएगा बल्कि उन्हें सम्मानित भी किया जाएगा।