ALL 30
भू माफियाओं द्वारा निजी व ग्राम समाज की भूमि पर किए जा रहे अवैध कब्जे के विरोध में हिंदू जागरण मंच ने सौंपा ज्ञापन
September 12, 2020 • रिटर्न विश्वकाशी न्यूज (आर वी न्यूज लाइव )

भू माफियाओं द्वारा निजी व ग्राम समाज की भूमि पर किए जा रहे अवैध कब्जे के विरोध में हिंदू जागरण मंच ने सौंपा ज्ञापन

संवाददाता सचिन यादव फर्रुखाबाद

जनपद फर्रुखाबाद उत्तर प्रदेश रिर्टन विश्वकाशी (RV NEWS LIVE) व्यूरो न्यूज- कायमगंज (फर्रुखाबाद)ब्लॉक नवाबगंज व शमसाबाद में ऐसा लग रहा है कि इस समय सत्ताधारी सफेदपोशों  के द्वारा संरक्षण प्राप्त भू माफिया अवैध कब्जा करने में लगे हुए हैं।इससे आक्रोशित होकर हिंदू जागरण मंच ने आज उपजिलाधिकारी कायमगंज को संबोधित ज्ञापन उनके ही कार्यालय में उपलब्ध कराया। हिंदू जागरण मंच के कानपुर मंडल प्रभारी प्रदीप सक्सेना व अनूप चौबे ,सनी शर्मा , अभिनव सक्सेना,अवधेश यादव ,शिवमंगल आदि पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने सौपे गए ज्ञापन में अवैध कब्जेदारी का पर्दाफाश करते हुए कहा है ,कि ब्लाक नवाबगंज की ग्राम पंचायत गठवाया के मजरा मगटई निवासी रामसनेही पुत्र परमेश्वरी दयाल की निजी गाटा संख्या 28 मिनी रकबा .2950 में ग्राम प्रधान दिनेश चंद्र प्रजापति उसी के समर्थक भूमाफिया नानिकराम, होतेलाल, सुमेर, दुर्विजय, रामबाबू आदि जबरिया खड़ंजा लगाकर आम रास्ता निकाल रहे हैं। आरोप है कि इतना ही नहीं इन भू माफियाओं ने राजनैतिक संरक्षण प्राप्त होने के कारण ग्राम पंचायत स्थित चारागाह की संरक्षित श्रेणी वाली 4 बीघा भूमि पर भी अवैध कब्जा कर रखा है। यह दबंग इस जमीन पर बाकायदा हल चलाकर फसलें उगा रहे हैं। जबकि इस भूमि पर गोवंश सहित अन्य पशुओं के चरने की व्यवस्था होनी चाहिए। किंतु ऐसा न होकर यह भूमि भी इन भू माफियाओं के कब्जे में आ चुकी है।उधर ब्लाक शमशाबाद की ग्राम पंचायत कासिमपुर तराई के ग्राम हरसिंहपुर तराई के निवासी वेदराम, राधे, किशोरी लाल ,फूल सिंह, आसाराम रामअवतार,भवानी सिंह,अमर सिंह जनक सिंह आदि लोगों ने भी भूमि गाटा संख्या 249 जो ग्राम समाज की संपत्ति है।उस पर कब्जा करके अवैध रूप से झोपड़ी नुमा आवास बना लिए हैं। तथा अपने जानवर बांधने लगे हैं इनके इस कृत्य से अन्य ग्रामवासी खासे परेशान व आतंकित हैं। हिजाम ने कहा है कि इस तरह किए गए अथवा किए जा रहे अवैध  कब्जा करने वालों को रोककर तत्काल भूमि कब्जा मुक्त कराई जानी चाहिए।ऐसा नहीं किया गया तो हिंदू जागरण मंच इस कृत्य के लिए तहसील प्रशासन को जिम्मेदार मानते हुए आंदोलन करने के लिए बाध्य होगा।